Follow by Email

Friday, 25 November 2016

तुम्हारी मुस्कुराहट में जो नशा है !!



तुम्हारे चेहरे में जो बात है वो किसी चित्रकारी में कहाँ ,

तुम्हारी आँखों में जो अदाएं है वो किसी कलाकार में कहाँ। 

तुम्हारे दीवाने है हम तो खुदा कि कसम ,

तुम्हारी मुस्कुराहट में जो नशा है वो किसी शराब में कहाँ।