Follow by Email

Monday, 6 July 2015

हर पल पर मरता हूँ...

तारों  कि छाँव में तूझे देखता हूँ ,

बिन कहे सब समझता हूँ। 

तूझे यक़ीन नही मेरे प्यार पर आज भी ,

फिर भी हर पल तुझ पर मरता हूँ।