Follow by Email

Sunday, 20 October 2013

"सिर्फ तुमाहरे लिए इन प्यार की राहों में.... "

तुम मेरे प्यार की कश्ती  में बैठ कर तो देखो,
मेरे  साथ समुंदर की हिच्कोलियाँ खा कर तो देखो, 
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा वादा है, 
एक बार मेरे साथ यूँ सफ़र करके तो देखो,  
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा दावा है, 
एक बार मेरे हाथ में अपना हाथ देकर तो देखो।  
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा वादा है, 
एक बार अपने पत्थर दिल को मेरे लिए धड़का कर तो देखो। 
------------------------------------------------------------------------------------------

यूँ  तो राहों में अँधेरा बहुत है,
तेरे साथ चलने का मजा बहुत है,
सोचा है इस अँधेरे को हटा देंगे दोनों मिलकर,
हाथ  में दिया और तेरे चेहरे का नूर बहुत है।