Follow by Email

Saturday, 14 December 2013

"चला था राहों में...."

चला था ख़ियाबां  में तन्हा ही ,
मोड़ पर  देखा तुझे तो सुकून आया।
इस डगर में सफ़र लगा आसान मुझे ,
तेरा साथ छूटा तो ज़हियान आया।
मिलेगी अगले मोड़ पर ये होसला था मुझे ,
हुआ सच ये अरमान तो जूनून आया। 

(chala tha khiyaabaan mein tanhaa hi
mod par dekha tujhe toh sukkoon aaya
iss dagar mein safar laga assaan mujhe
tera saath chootha toh zhiyaan aaya
milegi agale mod par ye hosla tha mujhe
hua sach ye armaan toh junnon aaya)


शब्दार्थ :-

"ख़ियाबां"- राह 
"ज़हियान"-गुस्सा 

Sunday, 24 November 2013

"तेरा ही इंतज़ार है इस सूनी ज़िन्दगी में "

तू जिस दिन मिलेगी मुझे तेरे साथ सपने सजोना चाहता हूँ ,
तुझे हर ख़ुशी से रुबरु करना चाहता हूँ ,
तेरे सारे गमों को मीठी हसीं में बदल देना चाहता हूँ। 
तुझे अपनी ज़िन्दगी में सूरज कि तरह उगता हुआ देखना चाहता हूँ
सरोवर कि तरह तुझे बहते हुए देखना चाहता हूँ ,
पहली बारिश में कली कि तरह खिलते हुए देखना चाहता हूँ।
आसमान कि नीली चादर कि तरह तेरी ज़िन्दगी में छा जाना चाहता हूँ,
तितली कि तरह आसमान में कोशिश करते हुए देखना चाहता हूँ।
तेरी मुस्कराहट पर पूरा जीवन गुज़ार देना चाहता हूँ,
तेरी नीली आँखों में डूब कर खो जाना चाहता हूँ,
तेरी पायल कि खनकार से खनकना चाहता हूँ,
तेरे गालों कि लाली में खुद पीला हो जाना चाहता हूँ।
बस अब तेरा ही इंतज़ार है मेरी खाली ज़िन्दगी में,
इन् ख्वाईशों को अब हक़ीक़त में बदल देना चाहता हूँ।

Sunday, 3 November 2013

तेरी मदहोश आँखों में..

तेरी मदहोश आँखों में डूब जाने को दिल करता है ,
तेरे चेहरे कि तबस्सुम में खो जाने को दिल करता है ,
तू मेरे प्यार को समझे या  न समझे,
पर तेरे प्यार में कुर्बान/फ़ना हो जाने को दिल करता है 

सोचा न था कि  इस कदर टूट जाऊँगा 
तेरे प्यार में इतना बिखर जाऊँगा,
प्यार  तो आज भी तुझसे उतना ही करता हूँ ,
पर प्यार में फिर टूटने से डरता हूँ । 

तेरी सुलझी जुल्फों में फिर उलझ जाना चाहता हूँ ,
पर आज उन्ही जुल्फों में खो जाने से डरता हूँ । 
तेरे साथ अपनी पूरी ज़िन्दगी बिताना चाहता था ,
पर आज उस ज़िन्दगी को पूरी करने से डरता हूँ । 

तू एक बार मुझसे  बोलकर तो देख  
तेरी  बातों में मिस्री कि तरह घुल जाना चाहता हूँ 
मेरी ज़िन्दगी में  तुझे मोती कि तरह पिरोना चाहता हूँ । 

Sunday, 20 October 2013

"सिर्फ तुमाहरे लिए इन प्यार की राहों में.... "

तुम मेरे प्यार की कश्ती  में बैठ कर तो देखो,
मेरे  साथ समुंदर की हिच्कोलियाँ खा कर तो देखो, 
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा वादा है, 
एक बार मेरे साथ यूँ सफ़र करके तो देखो,  
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा दावा है, 
एक बार मेरे हाथ में अपना हाथ देकर तो देखो।  
तुम मुझे प्यार करने लग जाओगे ये मेरा वादा है, 
एक बार अपने पत्थर दिल को मेरे लिए धड़का कर तो देखो। 
------------------------------------------------------------------------------------------

यूँ  तो राहों में अँधेरा बहुत है,
तेरे साथ चलने का मजा बहुत है,
सोचा है इस अँधेरे को हटा देंगे दोनों मिलकर,
हाथ  में दिया और तेरे चेहरे का नूर बहुत है।   

Tuesday, 8 October 2013

Pyaar se kisi ke liye....

True Love :-

Teri aab(teekhi) nazar ka mein deewaana hua,
Teri pehli muskaan ka mein ghayal hua,
Teri pehli adaa par kho diya apna dil
Teri khanakti payal ka mein kaayl hua
Jab se dekha pehli baar tujhe........ meri
Andheri zindagi mein oojaala hua. 


Yun toh bahut gam hai zindagi mein hum jaante bhi nhi,
Par tere pyaar mein hum inhe maante bhi nhi,
Socha tha ki tere pyaar mein har gam khushi mein badal jaayega,
Par har khushi gam mein badal jaayegi ye jaante bhi nhi.

Monday, 30 September 2013

For all the Mothers

माँ के आँचल का सुख कहीँ ओर नही मिलेगा
उसके चेहरे का नूर कहीं ओर नही मिलेगा
ना दिल दुखा उस माँ का कभी
माँ के जैसा दिल तुझे कहीँ ओर नही मिलेगा

यूँ तो माँ ने तेरे लिए सारी रात जाग कर गुज़ारी है, 

उसने रात का दिया बन कर तेरी ज़िंदगी सवारी है। 
तूने बदले में माँ को दिए दुःख ,कड़वे शब्द ,घर का कौना और घना अँधेरा ,
पर आज भी उसने रब से तेरे लिए ही दुआ मांगी है। 

तू मत भूल माँ के उन् ख्वाईशों को जो सिर्फ तेरे लिए ही गवाईं है ,
उसने तुझसे कुछ ना माँगा कभी  सिर्फ तेरे लिए ही अश्क बहाएं है। 
इतने ज़ुल्म के बाद वो, आज भी तेरा ही सुख चाहती है ,
तुझे परेशान होता देख, वो खुद बेचैन हो जाती है

कुछ तो दया कर तू आज उस पर और जाग जा उसके लाल 
माँ के चरणों में जा और अपना शीश झ़ुका,क्यूंकि,
माँ के चरणों के जैसा सुख तुझे कहीं ओर नही मिलेगा। 

Hinglish Version:-

(Maa ke aanchal ka sukh kahin aur na milega,
Uske chehre ka noor kahin aur na milega.
Naa dil dukha uss maa ka kabhi,
Maa ke jaisa dil kahin aur na milega.

Yun to maa ne tere liye saari raat jaag kar guzari hai
Usne raat ka diya ban kar teri zindagi sawaari hai
Tune badle mein maa ko diya dukh,ek ghar ka kauna,kadve shabd aur ghana andhera
par aaj bhi usne rab se tere liye hi duaa mangi hai.

Tu mat bhool maa ke unn khwaishon ko jo sirf tere liye hi usne gawai hai
Usne tujhse kuch na maanga kabhi sirf tere liye hi ashk bahayein hai
Itne zulm ke baad bhi wo toh aaj bhi tera hi sukh chahti hai
Tujhe pareshan hota dekh wo bechain ho jaati hai.

kuch toh dya kar tu aaj uss par Aur jaag jaaa uske laal
maa ke charnon mein ja aur apna sheesh zhuka kyunki
maa ke charnon ke jaisa sukh tujhe kahin aur na milega.)


   

For My Future Girlfriend :)

Tu mat garaz ghane badal ki tarah,
Tu mat badal bekaufh mausam ki tarah,
Mein teri mohabbat mein hua aashiq iss tarah,
Ki har fool ki khusboo mein teri khushboo dhoondta jis tarah.
Mein teri mmohabbat mein hua aashiq iss tarah,
Ki har muskaan mein teri muskaan dhoondta jis tarah.



In Comic Sense:-


Tu mat garaz ghane badal ki tarah,
Tu mat badal bekaufh mausam ki tarah,
Mein teri mmohabbat mein hua choor is tarah
Ghumta hoon galiyon mein awaara kutte ki tarah

Sunday, 29 September 2013

Heart Breaking












hum na chahte the ki wo humse door jaaye
par humare pyaar ne hi humko akela kardia
har aaine mein uski tasveer nazar aati thi
aaj wohi aaina tod kar humne use door kardia.


Saturday, 28 September 2013

Romantic Shayari's

Tu khusboo hai mast hawaaon ki,
Tu pasand hai mere zajzbaaton ki.
Tujhe mere pyaar par aitbaar nhi,
Tu pari hai mere khwaboon ki.